इटावा
उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के बकेवर इलाके के ऐतिहासिक लखना कस्बा स्थित सब्जी मंडी में भीषण आग लगने से करीब 55 दुकानें जलकर खाक हो गई। आग लगने के कारण एक अनुमान के मुताबिक 40 से लेकर के 50 लाख तक का नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है । रात के अंधेरे में लगी हाथ को लेकर के अराजक तत्वों के हाथ की आशंका जताई जा रही है। पुलिस और प्रशासनिक अफसर इसी पहलू पर अपनी पड़ताल करने में जुटे हुए हैं। आग लगने के इस घटनाक्रम के बाद पूरे लखना कस्बे में अफरा-तफरी फैली हुई है। हर कोई आग की विभीषिका को देखने के लिए मौके पर आने में जुटा हुआ है । भरथना के पुलिस उपाधीक्षक विकास जायसवाल ने आज यहॉ बताया कि  है कि आग लगने के घटनाक्रम को लेकर पुलिस इस बात की तफ्तीश करने में लगी हुई है कि आग लगने की यह घटना साजिश है या फिर दुर्घटना बस इस बात की तफ्तीश बड़ी ही गहनता के साथ की जा रही है जैसे ही घटना क्रम में कुछ भी साजिशन निकलकर के सामने आता है वैसे ही कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

उन्होंने बताया कि आग लगने के वाक्य के बाद मौके पर जांच करने के लिए बकेवर के थाना प्रभारी आलोक राय भरथना के उपजिलाधिकारी हेम सिंह भरथना के पुलिस उपाधीक्षक विकास जायसवाल पुलिस और राज्यसभा की टीम के साथ में आग से जलकर सोयाबीन सब्जी मंडी का सर्वेक्षण करने के लिए पहुंचे। सभी अफसर अपने अपने स्तर से मौके पर सर्वेक्षण करने में जुटे हुए हैं। सब्जी मंडी के कारोबारियों से उनके हुए नुकसान के बारे में विस्तृत रिपोर्ट राजस्व विभाग के कर्मी हासिल कर रहे हैं। भरथना के उपजिलाधिकारी हेम सिंह ने बताया कि आग लगने की घटना के बाद उन्होंने राजस्व विभाग की टीम के साथ मौके पर आकर अवलोकन किया है और राजस्व विभाग की टीम को इस बात के निर्देश दिए हैं कि जिन कारोबारियों दुकानदारों के नुकसान हुआ है उनकी भरपाई के लिए राजस्व विभाग अपने स्तर से मुआवजे की प्रक्रिया अदा करेगा । इस बीच, लखना सब्जी मंडी एसोसिएशन के अध्यक्ष पिंटू कुशवाहा ने प्रशासनिक अफसरों से गुहार लगाई है कि जिन दुकानदारों, कारोबारियों का नुकसान आग लगने के चलते हुआ है उनकी आर्थिक मदद हर हाल में की जाए क्योंकि दुकानदारों का बड़ा नुकसान हुआ है। पुलिस ने इस मामले में अनजान लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सधनता से पडताल शुरू कर दी है। 

Source : agency