संजय लीला भंसाली की विवादों में घिरी फिल्म 'पद्मावत' को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा. 26 जनवरी को फिल्म रिलीज किए जाने की चर्चा है. उससे पहले कुछ राज्यों में फिल्म का प्रदर्शन बैन किए जाने की खबरें भी सामने आ रही हैं. मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान ने पहले की गई घोषणा के मुताबिक़ पद्मावत पर बैन जारी रखने का फैसला किया है.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक़ गुजरात में विजय रूपाणी ने भी फिल्म रिलीज की अनुमति नहीं दी है. उन्होंने कहा, गुजरात में चुनाव से पहले ही 'पद्मावत' पर प्रतिबंध लगा दिया गया था, जिसे अभी भी बरकरार रखा गया है. गुजरात में फिल्म रिलीज नहीं होगी.  इससे पहले वसुंधरा राजे सरकार ने भी राजस्थान में फिल्म के प्रदर्शन को रोक दिया है. बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ पर मचे घमासान के बाद यूपी, उत्तराखंड और पंजाब जैसे राज्यों ने भी विवादित कंटेंट के साथ फिल्म की रिलीज रोकने की बात की थी.

हमारे फतवे से बीजेपी को डर, हर हाल में रोकेंगे प्रदर्शन

उधर, करणी सेना के लोकेंद्र सिंह कलवी ने कहा, 'प्रधानमंत्री विशेष परिस्थिति के आधार पर पद्मावत का प्रदर्शन रोक सकते हैं. अभी तक सेंसर बोर्ड ने पद्मावत को क्लीयरेंस नहीं दी है.'

उन्होंने कहा, 'हम किसी भी हालत में पद्मावत के रिलीज की अनुमति नहीं दे सकते हैं. क्षत्रीय मुद्दों पर आधारित बाहुबली जैसी फिल्मों को लेकर हमारी कोई आपत्ति नहीं है. हम पद्मावती पर बनने वाली किसी भी फिल्म का स्वागत करते हैं. लेकिन ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ की शर्त पर नहीं.'

 

हिमाचल में भी बैन हो सकती है फिल्म?

कुछ दिन पहले इस तरह की खबरें भी आई थीं कि हिमाचल सरकार ने भी फिल्म के प्रदर्शन से हाथ खींच लिए हैं. सूत्रों के मुताबिक़ सरकार नहीं चाहती कि राज्य में इस फिल्म का प्रदर्शन हो. गोवा में पुलिस ने राज्य सरकार से सिफारिश की है कि पद्मावत रिलीज नहीं की जाए. इसके पीछे गोवा पुलिस का तर्क है, यह सीजन पर्यटकों का है.

ऐसे में फिल्म रिलीज होने पर हिंसा या विवाद भड़क सकते हैं. ये राज्य के पर्यटन उद्योग और कानून व्यवस्था के लिए अच्छा नहीं होगा. वहीं मुंबई पुलिस ने 26 जनवरी के मौके पर सिक्योरिटी कारणों के चलते फिल्म की रिलीज को टालने की बात की है.

केजरीवाल से की बैन की मांग

इस बीच करणी सेना ने दिल्ली में भी पद्मावती को बैन करने की मांग उठाई है. सेना की ओर से कहा गया है कि वो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलकर फिल्म का प्रदर्शन रोकने की मांग करेंगे.

इससे पहले करणी सेना ने पद्मावत को क्लीनचिट देने के फैसले पर सेंसर बोर्ड का विरोध करने की धमकी दी है. सेना ने कहा है कि 12 जनवरी को मुंबई में सेंसर बोर्ड के ऑफिस के बाहर प्रदर्शन किया जाएगा. करणी सेना के कुछ नेताओं ने पूरे देश में फिल्म की रिलीज पर आपत्ति जताई है. यह भी कहा है कि अगर फिल्म रिलीज हुई तो सिनेमाघरों को जला दिया जाएगा.

करणी सेना के एक नेता ने यहां तक कहा कि अगर नाम बदलने से कोई चीज बदल जाती है तो हम पेट्रोल को गंगाजल समझकर सिनेमाघरों में छिड़कर आग लगा देंगे.

 
बता दें कि फिल्म के 25 या 26 जनवरी को रिलीज होने की चर्चा है लेकिन अभी तक भंसाली या वॉयकॉम 18 की ओर से कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है. कुछ ही दिन पहले सेंसर ने फिल्म की सर्टिफिकेशन प्रक्रिया पूरी होने की जानकारी दी थी. सेंसर ने इसके लिए कमेटी गठित की थी.

कमेटी की सिफारिशों के बाद निर्माताओं के साथ एक मीटिंग में फिल्म में 5 जरूरी बदलाव सुझाए गए थे. ये बदलाव उन बिंदुओं पर हैं जिन्हें लेकर पिछले कई महीनों से दीपिका की फिल्म पद्मावत का विरोध किया जा रहा है.

इस बीच मंगलवार को यह खबर भी सामने आई कि फिल्म में सेंसर ने 300 कट्स लगाए हैं. हालांकि कुछ ही देर बाद सेंसर चीफ प्रसून जोशी ने कट संबंधी दावे को सिरे से खारिज किया. कहा फिल्म में कोई कट नहीं कुछ बदलाव सुझाए गए थे. कुछ दिन पहले भी मीडिया को भेजे एक ई-मेल ने प्रसून ने 5 बदलाव की डिटेल का खुलासा किया था.

पैडमैन के साथ भिड़ंत

दीपिका, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर स्टारर पद्मावत के जिस तारीख को रिलीज होने की चर्चा है उसी डेट पर अक्षय कुमार की पैडमैन भी रिलीज हो रही है. यह फिल्म सामाजिक मुद्दे पर आधारित है. पहले चर्चा थी कि पद्मावत की वजह से पैडमैन की डेट आगे खिसकेगी लेकिन निर्माता पहले से निर्धारित डेट पर ही फिल्म रिलीज को तैयार हैं.

पद्मावत पर ठीक एक दिन बाद बॉक्स ऑफिस पर 'ए वेडनेसडे' फेम नीरज पांडे अय्यारी भी आ रही है. इस फिल्म की रिलीज डेट भी शिफ्ट होने की चर्चा है. लेकिन अभी कोई पुख्ता जानकारी सामने नहीं आई है.

Source : Agency