नई दिल्ली 
गुरुवार को जिस वक्त दिल्ली पुलिस के प्रमुख अमूल्य पटनायक सालाना प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्राइम के आंकड़ों की बाजीगरी दिखा रहे थे, ठीक उसी वक्त राजधानी के मंडावली इलाके में 6 हैवान मिलकर एक मासूम नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दे रहे थे.

पूर्वी दिल्ली के मंडवाली इलाके में एक चिल्ड्रन पार्क है. जहां 6 लड़कों ने मिलकर 14 साल की नाबालिक लड़की के साथ गार्ड रूम में गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया. दरअसल, 9वीं क्लास में पढ़ने वाली छात्रा पार्क में घूम रही थी. उसी दौरान सचिन गुर्जर, श्रीकांत और हरीश नामक तीन लड़कों ने उस नाबालिक लड़की के साथ दोस्ती की और फिर उसे आसपास घुमाने लगे.

शाम होने लगी तो सचिन ने अपने 3 और दोस्तों को वहां पार्क में बुला लिया. फिर इन सभी 6 लड़कों ने लड़की को पार्क के गार्ड रूम में ले जाकर बारी-बारी नाबालिग लड़की के साथ रेप किया. उसके बाद आरोपियों ने लड़की को धमकी देते हुए कहा कि अगर इस बारे में किसी को बताया तो वे उसे मार डालेंगे.

लड़की डरी सहमी अपने घर लौट आई. जब उससे रहा नहीं गया तो उसने अपने माता-पिता को आपबीती सुना दी. उसकी बात सुनते ही घरवालों के होश उड़ गए. वे फौरन लड़की को लेकर थाना मंडवाली पहुंचे और वहां जाकर गैंगरेप का मुकदमा दर्ज करवा दिया.

इसके बाद पुलिस ने फौरन कार्रवाई करते हुए एक एक कर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पकड़े जाने पर आरोपियों ने बताया कि उन्हें फंसाया गया है, लड़की झूठ बोल रही है. जब पीड़िता से बात करने की कोशिश की गई तो वह कैमरे पर बात करने से बचती रही.

फिलहाल पुलिस ने सभी 6 आरोपियों को तिहाड़ जेल भेज दिया है. पुलिस के मुताबिक दोस्ती करने के बहाने से लड़कों ने नाबालिग के संग गैंगरेप किया है. जिसके चलते आईपीसी की धारा 376/506/4/12 और पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

Source : Agency