नई दिल्ली
वर्चुअल करेंसी बिटक्वाइन को लेकर अमेरीकी बिजनेसमैन और दुनिया के मशहूर निवेश गुरू वॉरेन बफे ने निवेशकों को चेतावनी देते हुए कहा है कि बिटक्वाइन  के मायाजाल का बबल जरूर फूटेगा, निवेशक सचेत रहें। डिजिटल करेंसी लंबे समय तक नहीं टिकेंगी। साथ ही, उन्होंने ये भी साफ किया है कि वो खुद कभी किसी डिजिटल करेंसी में निवेश नहीं करेंगे। आपको बता दें कि भारत सरकार भी लगातार इसको लेकर चेतावनी जारी करती रही है और इसके खरीदने वालों को इसके नुकसान बताती रही है। |

आभाषीय करेंसी बिटक्वाइन  और इस तरह की दूसरी आभाषीय मुद्राओं को लेकर फिर से सवालिया निशान खड़े होने लगे हैं। दक्षिणी पूर्वी देश दक्षिण कोरिया ने बिटक्वाइन  जैसी तमाम आभाषीय मुद्राओं पर रोक लगाने के बारे में बयान दिया है। दक्षिण कोरिया सरकार की तरफ से कहा गया कि उनका देश आभाषीय मुद्राओं पर प्रतिबंध लगाने की योजना बना रहा है। इस बयान के बाद अंतरराष्ट्रीय मार्केट में बिटक्वाइन  की कीमतों में तेजी से गिरावट आई है।

दक्षिण कोरिया सरकार का मानना है कि टैक्स देनदारी से बचने के लिए बिटक्वाइन और दूसरी आभाषीय मुद्राओं में लोग पैसा लगा रहे हैं जिसे देखते हुए उनकी सरकार सभी तरह की आभाषीय मुद्राओं पर प्रतिबंध लगाने की योजना बना रही है. गुरुवार को दक्षिण कोरिया में बिटक्वाइन  का कारोबार करने वाली कई एक्सचेंजों पर छापेमारी भी हुई है। वैश्विक बाजार में बिटक्वाइन  का भाव करीब 12 प्रतिशत घटकर 12751 डॉलर तक आ गया है, बुधवार को इसका भाव 14542 डॉलर पर बंद हुआ था। भारतीय करेंसी रुपए में कहें तो गुरुवार को बिटक्वाइन  की कीमतों में 1.13 लाख रुपए की गिरावट आ चुकी है।

Source : Agency