सेंचुरियन

भारत ने दक्षिण अफ्रीकी दौरे की इतनी खराब शुरुआत की उम्मीद नहीं की थी, लेकिन तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने कहा कि अगर एक असफलता से टीम का आत्मविश्वास डिगता है, तो फिर वह टेस्ट क्रिकेट खेलने की हकदार नहीं है. दक्षिण अफ्रीका ने केपटाउन में पहले टेस्ट मैच में भारत को चार दिनों के अंदर 72 रनों से हराकर 1-0 की बढ़त बनाई. दूसरा टेस्ट मैच शनिवार से सेंचुरियन में शुरू होगा.

पहले मैच में चार विकेट लेने वाले बुमराह ने कहा, ‘एक मैच से आत्मविश्वास नहीं डिगता है. अगर ऐसा होता है तो फिर आप खेलने के हकदार नहीं हो. गलतियों से सीखो और आगे बढ़ो. कोई भी क्रिकेटर ऐसा नहीं है, जिसने गलती नहीं की हो.’

उन्होंने कहा, ‘यह अच्छा टेस्ट मैच था और मैंने इससे काफी कुछ सीखा क्योंकि मैं इससे पहले कभी यहां दक्षिण अफ्रीका में नहीं खेला था. इसलिए मैंने उससे काफी चीजें सीखीं. अब समय आगे बढ़ने और दूसरे मैच पर ध्यान केंद्रित करने का है.’ बुमराह ने कहा कि वह पहले टेस्ट मैच के सकारात्मक पक्षों पर गौर करेंगे जैसे कि एबी डिविलियर्स के रूप में पहला विकेट लेना.

उन्होंने कहा, ‘यह यादगार क्षण था और वहां से हमने कई विकेट लिये. एक गेंदबाज के रूप में मेरा सिद्धांत है कि किसी भी मैच के बाद बहुत अधिक उत्साहित या हतोत्साहित नहीं होना है. मैं अगले मैच में आत्मविश्वास के साथ जाना चाहता हूं.’

बुमराह ने कहा कि भारतीय गेंदबाज पहले टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी में उछाल को समझने में नाकाम रहे, जिससे मेजबान टीम 286 रन बनाने में सफल रही. उन्होंने कहा, ‘हमें पता चल गया था कि हमने पहली पारी में क्या गलती और इसलिए चौथे दिन हमने दोनों छोर से दबाव बनाने की कोशिश की तथा लेंथ पर ध्यान दिया जो पहली पारी में गलत थी.’

Source : Agency