कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने भाजपा को कट्टरपंथी कहा जिसके बाद पार्टी भड़क कर्नाटक सरकार पर भड़क गई है। पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पहले भी हिंदू आतंकवाद की बात करती रही है और इस बार सिद्धारमैया ने इस परंपरा को आगे बढ़ाया।
 
वहीं राज्य की बीजेपी नेता शोभा करंदलजे ने कल से राज्य में जेल भरो आंदोलन का ऐलान किया है। ​साफ है कि इस मुद्दे पर भाजपा बेहद आक्रमक हो चुकी है। गौरतलब है कि सिद्धारमैया ने भाजपा, आरएसएस और बजरंग दल में अतिवादी और कट्टरपंथी तत्व भरे होने का आरोप लगाया है और हिंदू विरोधी होने की बात कही।

यही नहीं सीएम सिद्धारमैया बिना किसी के नाम का जिक्र करते हुए अमित शाह को निशाने में लेते हुए कहा कि जो भी कर्नाटक की शांति में खलल डालेगा, उसे हमारी सरकार नहीं छोड़ेगी। हम ऐसा करने वाले किसी को भी बर्दाश्त नहीं करेंगे, फिर चाहे वो बजरंग दल का हो या फिर एसडीपीआई।

दूसरी तरफ कर्नाटक कांग्रेस के चीफ दिनेश गुंडू राव ने कहा कि 'कर्नाटक में राजनीतिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) और एसडीपीआई और बजरंग दल जैसे संगठनों को बैन करना केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है अगर सरकार के पास प्रुफ हैं तो वह इन्हें बैन करे।'

Source : Agency