बेंगलुरु 
इस साल होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने बड़ा ऐलान किया है। अमित शाह ने कहा है कि बीएस येदियुरप्पा ही प्रदेश में बीजेपी के सीएम कैंडिटेट होंगे।

दक्षिण भारत में बीजेपी को जगह दिलाने वालों में बीएस येदियुरप्पा का अहम योगदान रहा है। यहां उनका खासा प्रभाव है। शायद इसी को देखते हुए पार्टी ने एक बार फिर से उनपर भरोसा दिखाया है। 

बीएस येदियुरप्पा पहले भी कर्नाटक के मुख्यमंत्री रह चुके हैं और उन्हें भ्रष्टाचार की वजह से अपनी सीएम पद की कुर्सी भी गंवानी पड़ी थी। उनपर जमीन और अवैध खनन घोटाले के आरोप लगे थे। 

75 वर्षीय येदियुरप्पा ने 2011 में अपना अलग संगठन बनाया था लेकिन 2013 में इसका प्रदर्शन काफी खराब रहा था लेकिन वह बीजेपी के वोटबैंक का एक हिस्सा काटने में सफल रहे थे। इस वजह से बीजेपी को पराजय का मुंह देखना पड़ा था। 

पिछले दिनों कर्नाटक में बीजेपी प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक भी हुई थी, जिसमें पार्टी ने राज्य में 150 सीटों के लक्ष्य को हासिल करने का संकल्प लिया था। इन दिनों येदियुरप्पा कर्नाटक में 75 दिन के चुनावी दौरे 'परिवर्तन यात्रा' पर निकले हैं। बीजेपी ने इससे पहले उत्तर प्रदेश चुनाव के दौरान 49 दिन की ऐसी ही यात्रा शुरू की थी। जानकारों के मुताबिक, बीजेपी को राज्य में प्रचंड बहुमत दिलाने में उस यात्रा का अहम रोल रहा था। ऐसे में एक बार फिर से इसी तरह की यात्रा के जरिए बीजेपी कर्नाटक में भी जीत का स्वाद चखना चाहती है। 

Source : Agency