नई दिल्ली 
गुजरात चुनावों में प्रचार के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी + ने 20 से अधिक मंदिरों का दौरा किया था। इसका कुछ लाभ भी कांग्रेस को मिला और पार्टी की सीटें बढ़ीं। कांग्रेस अब बढ़त को किसी सूरत में खोना नहीं चाहती है और इसके लिए अपनी तैयारी भी शुरू कर दी है। सौराष्ट्र में जहां कांग्रेस का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है पार्टी फिर से हिंदुत्व की राह पर आगे बढ़ती दिख रही है। कांग्रेस सौराष्ट्र के 148 गांवों में राम मंदिरों के काया-कल्प के लिए 'श्रीराम सूर्योदय संध्या आरती कमिटी' का गठन करने जा रही है।
 

प्रदेश में नेता विपक्ष परेश धनानी + ने कुछ कार्यकर्ताओं को इसके लिए पूजा किट भी दिया है। कार्यकर्ता सप्ताह में 14 बार नियम से उन मंदिरों में आरती और पूजा करेंगे, जहां भक्तों की संख्या अपेक्षाकृत कम होती है। धनानी ने इस बारे में कहा, 'पूजा के लिए प्रयोग होनेवाली सामग्री जैसे शंख, झालर और नगाड़ा इस किट में है। कमिटी का उद्देश्य परंपरा के साथ भक्ति की भावना को बनाए रखना है।' 

 
धनानी ने कहा, 'हर गांव में एक रामजी चौराहा है, लेकिन कितने लोग वहां पर जाते हैं? लोगों के बीच अगर शांति से भरे जगह जैसे कि मंदिर जाने की प्रवृति बढ़ेगी तो क्षेत्र में तनाव और अशांति कम होगी। लोगों के बीच में तनाव और असहज माहौल को दूर किया जा सकेगा।' धनानी ने यह भी बताया कि पार्टी ने सोमनाथ से शंख और राजकोट के पास जसदान से ड्रम और भावनगर से सजावट की चीजें मंगवा ली हैं। जल्द ही इनका वितरण कमिटी के बीच किया जाएगा। 

Source : Agency