प्रकृति ने हर प्राणी की आयु में भिन्नता रखी है। अगर हम अपने जीवन को अनुशासन में जीएं तो काफी हद तक हम अपनी पूर्ण आयु को अच्छी सेहत के साथ जी सकते हैं। कुछ आसान से उपाय भी हैं, जिन्हें अपनाकर हम सुखी और स्वस्थ जीवन पा सकते हैं।  

सदैव देवी-देवताओं को धन्यवाद देने के पश्चात ही भोजन ग्रहण करें। कभी भी परोसे हुए भोजन की निंदा नहीं करना चाहिए। भीगे हुए पैरों के साथ भोजन ग्रहण करना शुभ माना जाता है। खाना खाने से पहले दोनों हाथ, दोनों पैर और मुख को अच्छी तरह से धोना चाहिए। इससे आयु में वृद्धि होती है। बिस्तर पर भोजन ग्रहण न करें। भोजन की थाली को हाथ में लेकर खाना न खाएं। टूटे-फूटे बर्तन में भोजन न करें।  

भोजन बनाने वाले को पूरी तरह से पवित्र होकर भोजन बनाना चाहिए। खाना बनाते समय किसी की निंदा न करें। भोजन करते समय हमारे मन में किसी के प्रति ईर्ष्या, लोभ और क्रोध का भाव नहीं होना चाहिए। घर में यदि कोई अस्वस्थ है तो उसके कमरे में ताजे फूल रखें। इन फूलों को रात में कमरे से हटा दें। सूर्योदय के समय और दिन में न सोएं। ऐसा करने से आयु क्षीण होती है। 

Source : Agency