इटावा 
 
इटावा शहर के बीच बने नगर पालिका कार्यालय में रखे क्लोरिन सिलेंडर से गैस रिसाव से पूरे इलाके में हड़कम्प मच गया। स्थिति से निपटने के लिए बाजार को बंद करा दिया गया। तेज गंध के चलते रेस्क्यू में लगे चार लोग बेहोश हो गए जिन्हें आनन-फानन में जिला अस्पताल पहुंचाया गया। घटना के बाद डीएम-एसएसपी सहित सभी आलाधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभाला। शहर में दिन हुई इस घटना के बाद देर शाम तक हालात काबू में आ सके। एतियात के तौर पर लोगों को बाजार क्षेत्र में न जाने की सलाह भी दी गई।

 शुक्रवार को गुरु गोविन्द सिंह जयंती के मौके पर  सभी कार्यालयों में अवकाश था लेकिन स्वच्छ सर्वेक्षण के चलते पालिका में कई कर्मचारी मौजूद थे। सुबह दस बजे जलकल विभाग में बैठे जलकल अभियंता श्रीराम यादव व जेई नबीला खान व अन्य अधिकारियों को गंध का अहसास हुआ। इसके बाद पालिका कर्मचारी अनुराग व चंदन ने पालिका के पुराने स्टोर में जाकर देखा तो उन्हें क्लोरिन की गंध महसूस हुई। इस पर स्टोर में रखे पुराने क्लोरिन सिलेंडरों को बाहर लाया गया।


बचाव के तौर पर उन्हें गीले टाट से ढक दिया गया, इसी दौरान तेज गंध के चलते दोनों कर्मचारियों की हालत बिगड़ गई और उन्हें अस्पताल भेजा गया। घटना की जानकारी मिलने पर फायर बिग्रेड के अधिकारी मौके पर पहुंच गए और सिलेंडरों को पानी से भरे एक गड्डे में डाला। इस दौरान फायर बिगे्रड के दो कर्मचारी शैलेन्द्र, राकेश व फायर विभाग के गार्ड भी हालत बिगड़ गई। उन्हें भी आनन फानन में जिला अस्पताल भेजा गया। पूरे बाजार में तेज गंध फैलने से हड़कम्प मच गया। 

Source : Agency