नई दिल्ली 
रेलवे इस संभावना की तलाश में है कि क्या राजधानी ट्रेनें 24 घंटे में दोनों फेरे (जाना और आना) पूरा कर सकती हैं। ट्रेनों की साफ-सफाई और अन्य तैयारियों के लिए दोनों सफर में आधे घंटे का अंतर होगा। ऐसा होने से इन रेक्स का अधिकतम इस्तेमाल होगा। 

इस तरह के कई अन्य प्लान पर 16 दिसंबर को यहां 'संपर्क, समन्वय और संवाद' कार्यक्रम में चर्चा होगी। इस बैठक में रेल मंत्री पीयूष गोयल और अन्य वरिष्ठ अधिकारी हिस्सा लेंगे। इस दौरान 2022 तक का रोडमैप तैयार किया जाएगा।
 

मीटिंग के अजेंडे में ढांचागत सुधार और मार्केट शेयर के साथ 2022 तक माल ढुलाई से राजस्व में 40 फीसदी वृद्धि का लक्ष्य भी शामिल है। समयबद्धता सुधार के साथ, सहजता और सुरक्षा जैसे मुद्दों पर भी चर्चा होगी। 

वरिष्ठ अधिकारियों को प्लान और आइडियाज के साथ बैठक में अनिवार्य रूप से हिस्सा लेने को कहा गया है। रेलवे कर्मचारियों की खुशी और उनका मनोबल बढ़ान जैसे कदमों पर भी विचार होगा। 

Source : Agency