नई दिल्ली 
गुजरात चुनाव में 25 फीसदी VVPAT पर्चियों के सत्यापन की मांग के साथ सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस को झटका लगा है। कांग्रेस की इस मांग पर सुप्रीम कोर्ट ने दखल इनकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कांग्रेस की इस याचिका में कोई मेरिट नहीं मिल पाई है। शीर्ष न्यायालय ने कहा कि चुनाव सुधारों के लिए कांग्रेस अगल से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर सकती है।
कांग्रेस की मांग है कि ईवीएम में पड़े वोटों से VVPAT पर्चियों का मिलान किया जाए। कांग्रेस ने अपने सर्वे में 110 सीटें मिलने की बात कही है। कांग्रेस का आरोप है कि गुजरात चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट में गड़बड़ी की गई है।

इसी मुद्दे के लेकर शुक्रवार को कांग्रेस ने बड़ी बैठक बुलाई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने गुरुवार शाम को आए एग्जिट पोल के नतीजों को गलत ठहराया है। उन्होंने कहा कि उन्हें गुजरात में जीत का भरोसा है। 18 दिसंबर को कांग्रेस गुजरात में जीत का छक्का जरूर मारेगी। मामले की सुनवाई 2 बजे होगी। जिसमें कपिल सिब्बल और कांग्रेस नेता अभिषेक सिंघवी दलील देंगे। 
 

गौरतलब है कि गुरुवार शाम को आए गुजरात चुनाव के एग्जिट पोल के नतीजों पर ने कांग्रेस की उम्मीदों को बड़ा झटका दिया है। विभिन्न एग्जिट पोल के नतीजे बता रहे हैं कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गुजरात का अपना गढ़ बचाने में कामयाब रही है। इसके साथ भाजपा ने कांग्रेस से हिमाचल प्रदेश का ताज छीन भी लिया है। एग्जिट पोल के नतीजे गुजरात और हिमाचल दोनों ही राज्यों में भाजपा की सरकार बनने की संभावना जता रहे हैं।  

Source : Agency