नई दिल्ली 
संसद के शीतकालीन सत्र की शुरुआत से एक दिन पहले दिल्ली में गुरुवार शाम सर्वदलीय बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में मौजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद सत्र को उपयोगी साबित करने के लिए सभी पार्टियों से सहयोग की मांग की। उन्होंने लोकसभा और सभी विधानसभाओं के एक साथ चुनाव कराने का मुद्दा भी छेड़ा। पीएम मोदी आज ही गुजरात चुनाव के आखिरी चरण में वोटिंग के बाद वापस दिल्ली लौटे हैं। 

अनंत कुमार ने आगे बताया, 'पीएम मोदी ने उपयोगी सत्र के लिए सभी पार्टियों से सहयोग की मांग की। बैठक के दौरान कहा कि संसद और राज्य विधानसभाओं को एक साथ चुनाव कराए जाने चाहिए।' 

बैठक के बाद संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा, 'सत्र के दौरान मुख्य मुद्दा अनुदान का पूरक मांग, अनुच्छेद 123 (पिछड़ी जातियों के संवैधानिक दर्जे से जुड़े राष्ट्रीय आयोग) में संशोधन, मुस्लिम महिलाओं को शादी का अधिकार 2017, पर चर्चा की जाएगी। इसके अतिरिक्त राज्यों को जीएसटी मुआवजा सहित 3 अध्यादेश पर भी चर्चा होगी।' 

संसद का शीतकालीन सत्र 15 दिसंबर को शुरू हो रहा है जिसके काफी हंगामेदार रहने की आशंका है। विपक्ष की ओर से सरकार को गुजरात चुनाव की पृष्ठभूमि में सत्र में विलम्ब करने से जुड़े विषय, जीएसटी, नोटबंदी, राफेल डील, किसानों से जुड़े विषय समेत कई समसामयिक मुद्दों पर घेरने का प्रयास किया जा सकता है। गुजरात चुनाव परिणाम का भी सत्र पर प्रभाव देखा जा सकता है। संसदीय कार्य राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि संसद चर्चा का सर्वोच्च स्थान है और सरकार नियमों के तहत किसी भी मुद्दे पर चर्चा करने को तैयार है। मोदी सरकार गरीब हितैषी सरकार है। विपक्ष को अपनी बात रखनी चाहिए और नियमों के तहत चर्चा करनी चाहिए।

Source : Agency