वॉशिंगटन 
अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प को अलाबामा प्रांत में अमेरिकी कांग्रेस के उच्च सदन 'सीनेट' के चुनाव में झटका लगा है। डेमोक्रैटिक पार्टी के नेता डग जोंस ने रिपब्लिकन पार्टी के प्रत्याशी रॉय मूर को इस सीट पर हुए चुनाव में हरा दिया है। इस जीत को अमेरिका के राजनीतिक विश्लेषक ऐतिहासिक मान रहे हैं। अलबामा की इस सीट के चुनाव नतीजों पर पूरे विश्व की नजरें टिकी थीं। 

 
मूर को 48.38 फीसदी और उनके प्रतिद्वंद्वी डेमोक्रैट जोंस को 49.92 फीसदी वोट के साथ जीत मिली। पिछले 25 साल में पहली बार इस सीट पर रिपब्लिकन पार्टी की हार हुई है। राष्ट्रपति ट्रम्प ने रॉय मूर के लिए चुनाव प्रचार किया था। इसके बावजूद उनकी रिपब्लिकन पार्टी के अन्य नेताओं ने मूर का साथ नहीं दिया। मूर पर लड़कियों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगा और यह आरोप इस चुनाव में मुद्दा बन गया। 63 वर्षीय जोंस की जीत से सीनेट में डेमोक्रैट पार्टी के सदस्य 49 हो गए हैं, जबकि रिपब्लिकन के 51 सदस्य हैं। 

 
राष्ट्रपति ट्रम्प ने इस जीत के लिए जोंस को ट्वीट करके बधाई दी है। इस जीत की अमेरिकी मीडिया में काफी चर्चा हो रही है। कुछ अमेरिकी वेबसाइट्स और अखबार इसे ट्रंप के लिए खतरे की घंटी मान रहे हैं। जीत में दोनों ही उम्मीदवारों के बीच जीत का फर्क काफी कम रहा है। राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्वीट कर अगले चुनावों में सही प्रदिद्वंद्वी खड़े करने की बात कही है। 

बता दें कि ट्रंप का बतौर राष्ट्रपति कार्यकाल 2020 में खत्म होना है। राष्ट्रपति बनने के बाद से ही ट्रंप कभी अपने बयानों, कभी मीडिया पर छींटाकशी करने को लेकर आलोचकों के निशाने पर रहे हैं। इतना ही नहीं उत्तर कोरिया और चीन पर उनके रुख को लेकर भी पूरे विश्व में हलचल है। 2016 के राष्ट्रपति चुनावों में डेमोक्रैटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलरी क्लिटंन को भले ही हार मिली हो, लेकिन हालिया नतीजे पार्टी को खुश कर सकते हैं। इसी साल नवंबर में वर्जिनिया और न्यू जर्सी में हुए चुनावों में भी पार्टी ने जीत दर्ज की है। 

Source : Agency