नई दिल्ली
भारती एयरटेल के 4G सब्स्क्राइबर बहुत जल्द 30 से 35Mbps की औसत स्पीड पर इंटरनेट ब्राउज और विडियो स्ट्रीम कर सकेंगे। यह मौजूदा 4G स्पीड से 3 गुना तेज़ होगा। ऐसा संभव होगा मैसिव मीमो टेक्नॉलजी क चलते जिसे एयरटेल जल्द ही भारत के प्रमुख शहरों में पहुंचाने की तैयारी कर रहा है।

खबर मिली है कि बेंगलुरु, मानेसर और चंडीगढ़ में इस तकनीक के ट्रायल चल रहे हैं। मामले के जानकार लोगों ने बताया कि यह तकनीक 4G से बेहतर और 5G से थोड़ी कमतर मानी जा रही है और एयरटेल दिसंबर 2017 से फरवरी 2018 के बीच इसका कमर्शल रोलआउट शुरू कर सकता है। गौरतलब है कि रिलायंस जियो की स्पीड को मात देने के लिए कम्पनी इस तकनीक में निवेश कर रही हो सकती है।

एक सूत्र ने बताया, 'एक तिमाही में चारों महानगरों सहित पुणे, हैदराबाद और बेंगलुरु में कई महत्वपूर्ण जगहों पर मैसिव मीमो को लगा दिया जाएगा।'

एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि वावे और ZTE के साथ रेडियो इक्विपमेंट और इन्स्टॉलेशन के तकनीीकी गणित पर काम जारी है और महीने भर के भीतर ही कुछ कॉन्ट्रैक्ट्स हो सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि भारती एयरटेल इसी हफ्ते होने वाले एक इवेंट में इस Pre-5G तकनीक की झलक भी दिखा सकती है। हालांकि, एयरटेल, वावे और ZTE में से किसी भी कम्पनी ने इन बातों की पुष्टि नहीं की।

मैसिव मीमो या मैसिव मल्टिपल इनपुट मल्टिपल आउटपुट तकनीक से एक बेस स्टेशन की क्षमता 5 से 7 गुना तक बढ़ जाती है और इंटरफेरेंस को काफी कम कर देती है। नतीजतन डिवाइस तक पहुंचने वाले सिग्नल मज़बूत हो जाते हैं। सामान्य शब्दों में वॉइस और डेटा इस्तेमाल करने वाले ग्राहक को 30Mbps से 35Mbps तक की औसत स्पीड और 50Mbps तक की हाई स्पीड मिल सकती है। फिलहाल विभिन्न प्लान्स के तहत ग्राहकों को 4Mbps से 16Mbps तक की स्पीड मिलती है।

Source : Agency