दबंगईः अवैध नाव चलाने से रोकने पर वन विभाग टीम पर हमला, फायरिंग कर भागे हमलावर

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, आगरा
Updated Wed, 24 Jul 2019 12:05 AM IST

पुलिस द्वारा पकड़ी गई चंबल नदी में संचालित अवैध नाव
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

चंबल नदी के पिनाहट घाट पर अनुमति के अभाव में स्टीमर बंद होने पर सोमवार को क्योरी घाट पर अवैध रूप से दिनभर नाव चलाई गई। सूचना पर मंगलवार को वन विभाग की टीम ने पुलिस के साथ पहुंचकर संचालन बंद कराने की कोशिश की, तो नाव संचालकों ने टीम पर फायरिंग कर दी। 

पुलिस की ओर से भी जवाब में गोलियां दागी गईं। इस बीच संचालक नाव लेकर नदी पार मध्यप्रदेश की सीमा में भाग निकले। सूचना पर पहुंची मुरैना के महुआ थाने की पुलिस ने नाव को सीज कर दिया है। वहीं हमलावरों की तलाश की जा रही है। 

नाव संचालकों के हमले की खबर पर थानाध्यक्ष पिनाहट और वन रेंजर बाह आरके सिंह राठौर भी फोर्स के साथ पहुंचे। पिनाहट पुलिस की सूचना पर मध्य प्रदेश के महुआ थाने का फोर्स भी आ गई।
थानाध्यक्ष पिनाहट ज्ञानेंद्र सोलंकी ने बताया कि महुआ थाना पुलिस द्वारा आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। नाव को सीज कर दिया गया है। वही रेंजर बाह ने बताया कि क्योरी घाट पर नाव का अवैध संचालन किया जा रहा था।

सूचना पर पहुंची टीम पर फायरिंग की गई है। मामले की जानकारी पुलिस को दे दी गई है। बताया कि अनुमति नहीं लिए जाने के कारण पिनाहट घाट पर स्टीमर का संचालन रोका गया है। इसके बाद ही क्योरी घाट पर नाव से सवारियां पार उतारी जा रही थीं।

चंबल नदी के पिनाहट घाट पर अनुमति के अभाव में स्टीमर बंद होने पर सोमवार को क्योरी घाट पर अवैध रूप से दिनभर नाव चलाई गई। सूचना पर मंगलवार को वन विभाग की टीम ने पुलिस के साथ पहुंचकर संचालन बंद कराने की कोशिश की, तो नाव संचालकों ने टीम पर फायरिंग कर दी। 

पुलिस की ओर से भी जवाब में गोलियां दागी गईं। इस बीच संचालक नाव लेकर नदी पार मध्यप्रदेश की सीमा में भाग निकले। सूचना पर पहुंची मुरैना के महुआ थाने की पुलिस ने नाव को सीज कर दिया है। वहीं हमलावरों की तलाश की जा रही है। 

नाव संचालकों के हमले की खबर पर थानाध्यक्ष पिनाहट और वन रेंजर बाह आरके सिंह राठौर भी फोर्स के साथ पहुंचे। पिनाहट पुलिस की सूचना पर मध्य प्रदेश के महुआ थाने का फोर्स भी आ गई।

Related Posts

About The Author

Add Comment