काव्य गोष्ठी… फिर हवा तेज चलने लगी

Sehore News – इछावर| काव्यांश सामजिक व साहित्यिक संस्था की मासिक काव्य गोष्टी पर्यटन स्थल कालियादेव में आयोजित की गई। काव्य…

Bhaskar News Network

Jul 24, 2019, 07:50 AM IST

इछावर| काव्यांश सामजिक व साहित्यिक संस्था की मासिक काव्य गोष्टी पर्यटन स्थल कालियादेव में आयोजित की गई। काव्य गोष्टी के मुख्यातिथि टीआई अरविंद कुमरे व अध्यक्षता संस्था के संरक्षक मोहन चंद्र प्रगट ने की। रविवार को कालिया देव में आयोजित काव्य गोष्ठी का शुभारंभ टीआई अरविंद कुमरे, मोहन चंद्र प्रगट, मंदिर के पुजारी हनुमत दास ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलित कर किया। सरस्वती वंदना कवि मनीष जोशी ने वर दे मां वीणावादिनी वर दे से किया। कवि रमेश राही ने एक कांटा चुभा रह गया में जहां था वहीं खड़ा रह गया कविता सुनाई। इसके साथ ही कई गजलें व मुक्त से काव्य गोष्ठी में समा बांध दिया। कवि संतोष चावड़ा ने गुस्ताख आंखें यह कमाल कर बैठी, समुद्र से कतरे का सवाल कर बैठी। शायर परवेज खान परवाज ने फिर हवा तेज चलने लगी फिर कवल मुस्कुराने लगे। फिर परिंदों ने अंगड़ाई ली फिर शजर गुनगुनाने लगे गजल पर खूद दाद बटोरी। शायर रियाज अहमद रियाज ने मेरे किरदार में बस एक खराबी है, जार खुद्दार हूं लहजा नवाबी है सुनाई। कवि मनीष जोशी ने राहे दिखाई थी जिसने सफर के चिरागों को सुनाई। इसके अलावा कवि बाबू मुशाय, मुकेश शर्मा ने भी रचना पाठ किया। काव्य गोष्ठी में संस्था अध्यक्ष बृजेंद्र तिवारी, शिव गुप्ता, अमित गुप्ता एडवोकेट, कृपाल सिंह दरबार, नरेश वर्मा सहित संस्था के बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

‘);$(‘#showallcoment_’+storyid).show();(function(){var dbc=document.createElement(‘script’);dbc.type=’text/javascript’;dbc.async=false;dbc.src=’https://i10.dainikbhaskar.com/DBComment/bhaskar/com-changes/feedback_bhaskar.js?vm15′;var s=document.getElementsByTagName(‘script’)[0];s.parentNode.insertBefore(dbc,s);dbc.onload=function(){setTimeout(function(){callSticky(‘.col-8′,’.col-4′);},2000);}})();}else{$(‘#showallcoment_’+storyid).toggle();callSticky(‘.col-8′,’.col-4′);}}

Related Posts

About The Author

Add Comment